Do You Want to Have Career Advice

*आईएएस बन ने के मजबूत योग – जिस जातक का अंगूठा कड़क हो जो पीछे की तरफ न मुड़ता हो कनिष्ठका लम्बाई लिए हो और उसका अंतिम सिरा अनामिका के तीसरे पोर से आगे हो और सूर्य रेखा उच्च कोटि की हो तो वह व्यक्ति आईएएस अधिकारी बनने की प्रबल सम्भावना होती है ।

*यदि मणिबंध रेखा दोष युक्त हो अथवा टूटी फूटी अस्पष्ट हो तो ऐसे जातक के जीवन में बराबर बाधाये आती रहती है ऐसे जातक दुखी तथा परेशान रहता है ऐसे जातक निर्धन, अस्वस्थ और भाग्य साथ नही देने वाला होता है ।

*यदि मणिबंध रेखा पर त्रिभुज का चिन्ह हो तो जातक को अकस्मात धन की प्राप्ति होती है अचानक धन सम्पति भी प्राप्त हो सकती है ।

*यदि मणिबंध रेखा पर त्रिभुज का चिन्ह हो तो जातक को अकस्मात धन की प्राप्ति होती है अचानक धन सम्पति भी प्राप्त हो सकती है ।

*यदि तर्जनी चार सीधी खड़ी रेखाएं हो तो जातक धर्म के काम में ज्यादा रूचि लेता है और यदि दूसरे पर्व पर हो तो उसकी महत्वकांक्षाओं की पूर्ति में सहायक होती है यदि तीसरे पर्व पर हो तो जातक दुसरो पर हुकूमत करता है ।

*जब मस्तिक रेखा का आरंभ जीवन रेखा से हटकर होता है तो ऐसे व्यक्ति में वैचारिक स्वतन्त्रता और मानसिक दृढ़ता होती है। ऐसे व्यक्ति त्वरित निर्णय ले सकते हैं। जिन कार्यों में शीघ्र निर्णय लेना और उनका दृढ़तापूर्वक क्रियान्वयन करवाना आवश्‍यक होता है, ऐसे व्यक्ति को उसमें सफलता मिलती है। अगर मस्तिक रेखा सीधी हो तो व्यक्ति दूसरों पर अपना विशेष प्रभाव रखता है।

*यदि मस्तक रेखा के अंत में दो शाखाये हो जाये एक शाखा ह्रदय रेखा को स्पर्श करे तथा दूसरी चन्द्र पर्वत पर जाए तो ऐसा जातक प्रेम की खातिर अपना सब कुछ त्याग कर सकता है ।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s