वक्री शनि द्वारा भाग्योदय

अजीब लगता है यह सुन कर कि वक्री शनि भी भाग्योदय का कारण बन सकता है। अभी तक तो सभी ज्योतिषीं शनि के नाम से डराते थे? अब अचानक शनि कैसे जीवन में उत्थान दे सकता हैं?

शनि 25 मार्च के सायं 3ः15 मिनट पर वक्री हुआ था। नक्षत्र है ज्येष्ठा और राशि हैं वृष्चिक शनि मार्गी हो रहा है, 12 अगस्त को अनुराधा नक्षत्र और वृष्चिक राशि में?

 

शनि के बारे में आम धारणा।

ग्रह शनि के बारे में आम धारणा है कि शनि ग्रह चाहे तो राजा बना दे या रंक। जिसकी जन्मकुण्डली में शनि बहुत अच्छी स्थिति में होता है उसे शनि विशेष हानि नहीं पहुँचाता बल्कि लाभ ही पहुँचाता है। जिन जातको की कुण्डली में शनि, नीच स्थिति पर होता है, उन्हे शनि से हानि होती है। परन्तु यह हानि जीवन भर नहीं रहती, क्योंकि हमारे जीवन में दशा और गोचर का भी महत्व होता है।

कुण्डली में शुभ शनि के प्रभाव।

उच्च स्थिति में बैठा शनि, अपने घर का या मूल त्रिकोण राशि में बैठा शनि अच्छा माना जाता है। एैसा व्यक्ति भाग्यशाली होता है, स्थिर, गम्भीर बुद्धिमान होता है। जातक की आयु लम्बी होती है। उसकी दार्शनिक प्रवृŸिा होती है व्यक्ति परिश्रमी होता है और धन अर्जित करता है। नौकरी में उच्च पद पर पहुँचता है। हस्तरेखा विज्ञान में भी अच्छी शनि रेखा (भाग्य रेखा) का बहुत महŸव है।

कुण्डली में अशुभ शनि का प्रभाव।

शनि अगर नीेच स्थिति में है तो व्यक्ति शंकालु निराशावादी चापलूस, अलगाव वादी बनता है। पढ़ने में उसका मन नहीं लगता। नाक और सांस सम्बन्धी तकलीफ से ग्रस्त रहता है।

आजकल शनि कहां गोचर कर रहा है?

आजकल शनि वक्री हो कर वृष्चिक राशि में मंगल के साथ गोचर कर रहा है। मेष और सिंह राशि की ढैया और तुला वृष्चिक एवम धनु राशि पर साढ़ेसाती चल रही है।

 

वक्री शनि का प्रभाव।

जिन जातकांे की जन्मकुण्डली में शनि शुभ स्थान पर है या गोचर अच्छा चल रहा है उनके लिये वक्री शनि परेशानी लायेगा। उन्हे पैरों की तकलीफ, कार्यो में रूकावट, जोड़ों का दर्द, नौकरी में परेशानी होगी। धातु, लोहा, बहुमूल्य रत्न, अनाज का व्यापार करने वाले जातकांे के लिये यह समय अस्थिरता का रहेगा।

वक्री शनि किस के लिये शुभ।

जिन जातकों की कुण्डली में शनि अशुभ भाव में स्थित है अथवा गोचर में अशुभ चल रहा है, उनके लिये यह समय शुभ रहेगा। नौकरी में तरक्की की सम्भावना बढ़ेगी, धन का लाभ होगा क्रूड आयल, शेयर बाजार, कोयला स्टील सम्बधी व्यापारियों को फायदा होगा।

शनि के दुष्प्रभाव कम करने के उपाय।

ऽ              शनि के दुष्प्रभाव को कम करने के लिये 7 प्रकार के अनाज व दालों को मिश्रित करके पक्षियों को खिलायें।

ऽ              बैगनी रंग का रूमाल जेब में रखें।

ऽ              शनि मंदिर में शनि की मूर्ति पर तिल या सरसों का तेल चढ़ायंे।

ऽ              सवा पांच रŸाी का नीलम या उपरत्न नीली को ताँबे की अंगूठी में अभिमंत्रित करवा कर पहनें।

ऽ              शनि यंत्र की रोज उपासना करें।

ऽ              फिरोजा रत्न गले में धारण कर सकते हैं।

शनि की साढ़ेसाती के उपाय।

ऽ              शनिवार के दिन काले घोड़े की नाल से उंगूठी बनवायें। उसे तिल के तेल में सात दिन तक रखें। शनि मंत्र को 23000 जाप करंे। शनिवार के दिन सूर्यास्त के समय धारण करें।

ऽ              शनिवार को व्रत रखें। सांयकाल में ही भोजन करें।

ऽ              शनि बीज मंत्र का 23000 जाप सांयकाल को करें, ऊँ प्रां प्री सः श्नैश्चराय नमः, का

ऽ              बेसन या छोले से बने पदार्थ गरीबों को खिलायें।

 

#निशा घई #वक्री शनि, #शनि, ग्रह शनि, #शनि की साढ़ेसाती, #shani #astrologer  #sadasatireport

विवाह में आ रही हर बाधा को दूर करेंगें ये 5 उपाय

अगर लड़की की उम्र निकली जा रही है और सुयोग्य लड़का नहीं मिल रहा। रिश्ता बनता है फिर टूट जाता है । या फिर शादी में अनावश्यक देरी हो रही हो तो कुछ छोटे-छोटे सिद्ध उपायों से इस दोष को दूर किया जा सकता है।

अड़चनों को दूर करने के उपाय         

1-लड़की को गुरूवार का व्रत करना चाहिए। उस दिन कोई पीली वस्तु का दान करें। दिन मेंन सोएं पूरे नियम संयम से रहे।

2- सावन के महीने में शिवजी को रोजाना बिल्व पत्र चढाएं। बेल पत्र की संख्या 108 हो तो सबसे अच्छा परिणाम मिलता है।

 

3-शिवजी का पूजन कर निर्माल्य का तिलक लगाएं तो भी जल्दी विवाह के योग बनते हैं।

4-गुरूवार के दिन प्रातःकाल नित्यकर्म से निवृत होकर हल्दी युक्त रोटियां बनाकर प्रत्येक रोटी पर गुड़ रखें व उसको खिलाएं। 7 गुरू वार नियमित रूप से यह विधि करने से शीघ्र विवाह होता है।

 

5-यदि कन्या की शादी में कोई रूकावट आ रही हो तो पूजा वाले 5 नारियल लें। भगवान शिव की मूर्ति या फोटों के आगे रख कर ”उॅं श्रीं वर प्रदाय श्री नमः मंत्र” का पांच माला जाप करें। फिर वो पांचों नारियल शिव जी के मंदिर में चढ़ा दें। विवाह की बाधायें अपने आप दूर होती जांएगीं।

 

मांगलिक योग का उपाय
1-अगर किसी का विवाह कुण्डली के मांगलिक योग के कारण नहीं हो पा रहा तो व्यक्ति को मंगलवार के दिन चण्डिका स्तोत्र का पाठ में मंगलवार के दिन तथा शनिवार के दिन सुन्दरकाण्ड पाठ करना चाहिए। इससे भी विवाह के मार्ग की बाधाओं में कमी होती है।

 

2- 5 छुआरे सिरहाने रख कर सोना ,मंगलवार के दिन देवी मंदिर में लाल गुलाब का फूल चढाएं व पूजन करें एवं मंगलवार का व्रत रखें। यह कार्य नौ मंगलवार तक करें। अंतिम मंगलवार को नौ कन्याओं को भोजन करवाकर लाल वस्त्रों हल्दी एवं यथाशक्ति दक्षिणा दें।

 

3-”कात्यानि महामाये महायोगिन्यधीश्वरि नं द गोपसु तं दे विपतिं में कुरूने नमः।” मां कात्यायनि देवी या पार्वती फोटो को सामने रखकर जो कन्या पूजन कर इस कात्यानि मंगला का जाप प्रतिदिन करती है उस कन्या की विवाह बाधा शीघ्र दूर होती है।

 

उपाय करते समय ध्यान में रखने योग्य बातें
-किसी भी उपाय को करते समय व्यक्ति के मन में यही विचार होना चाहिए कि वह जो भी उपाय कर रहा है वह ईश्वरीय कृपा से अवश्य ही शुभ फल देगा।

-सभी उपाय पूर्णतः सात्विक है तथा इनसे किसी के अहित करने का विचार नहीं है।

-उपाय करते समय उपाय पर होने वाले व्ययों को लेकर चिन्तित नहीं होना चाहिए।

-उपाय से संबन्धित गोपनियता रखना हितकारी होता है।

-यह मान कर चलना चाहिए कि श्रद्धा व विश्वास से सभी कामनाएं पूर्ण होती है।

 

गुडलक गुरू निशा घई

      

मकर संक्रांति देवताओ का दिन

 

खुशी और समृद्धि का व्यौहार मकर संक्रांति, सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने पर मनाया जाता है। इस वर्ष मकर संक्राति 15 जनवरी को मनाया जायेगा। इस दिन सूर्य उरायण हो जाता है। मकर संक्रांति का धार्मिक महत्व उत्तरायण के अविधि काल को देवताओं का दिन कहते हैं।

मकर संक्रांति को देवताओं का प्रभातकाल कहते हैं। गीता में लिखा है कि जो व्यक्ति उत्तरायण में शरीर का त्याग करता है, वह श्री कृष्ण के परम धाम में निवास करता है। पुराणों में इस दिन गंगा नदी में स्नान का विशेष महत्व बताया गया है। इस तिथि पर स्नान व दान करना बड़ा पुण्यदायी माना गया है। इससे जीवन और आत्मा के कारक सूर्य देव का प्रभातकाल कहते हैं।

गीता में लिखा है कि जो व्यक्ति उत्तरायण  में शरीर का त्याग करता है, वह श्री कृष्ण के परम धाम में निवास करता है। पुराणों में इस दिन गंगा नदी में स्नान का विशेष महत्व बताया गया है। इस तिथि पर स्नान व दान करना बड़ा पुण्यदायी माना गया है। इससे जीवन और आत्मा के कारक सूर्य देव प्रसन्न होते हैं। इस दिन सुबह पवित्र नदी से स्नान कर तिल और गुड़ खाने की परम्परा है। मकर संक्रांति पर तिल का विशेष महत्व है। प्रचलित है कि तिल का दान करने से घर में समृद्धि आती है।

 

यह त्यौहार हर प्रदेश में अलग- अलग परम्परा से मनाया जाता है-

 

मकर संक्रांति पर तिल का विशेष महत्व है। प्रचलित है कि तिल का दान करने से घर में समृद्धि आती है।

उत्तर प्रदेश में खिचड़ी बना कर सूर्यदेव को भोग लगाया जाता है। पंजाब और हरियाणा में फसलें पक जाने के उपलक्ष में इसे लोहड़ी के रूप में मनाया जाता है। आसाम में बिहु और दक्षिण भारत में पोंगल के रूप में मनाते है। महाराष्ट्र में नवविवाहित स्त्रियाँ अपनी प्रथम संक्रांति पर तेल, कपास और नमक का दान सौभाग्यवती स्त्रियों को करती है।

 

मकर संक्रांति पर सूर्य की जल चढ़ाते हुऐ इस मंत्र का 11 बार उच्चारण करना चाहिये।
सूर्याय नमः आदित्याय नमः सप्ताचिर्ष नमः

 

 
अन्य मंत्र- ऊँ घृणि सूर्याय नमः 11 बार इन मंत्रों का उच्चारण कर अपनी मनोकामना माँगे तो सूर्य देव आपकी मनोकामना जरूर पूरी करेंगे।

अर्घ के जल में क्या मिलाये – गुड़ और चावल, मकर संक्रांति पर क्या दान करे – कंबल, गुड़, तिल खिचड़ी का दान जीवन में भाग्य लाता है।

 

शुभ मुहूर्त-

वर्ष 2016 का शुभ मुहूर्त 15 जनवरी सुबह 7 बजे से दोपहर 12 बजकर 30 मिनट तक है।

 

 

 

Rahu entry in your sign on 31 Jan may let you undergo some surgery .

 

‪#‎RashiFal‬ # Leo #2016
Rahu entry in your sign on 31 Jan may let you undergo some surgery .
Rahu entry in your sign on 31 Jan may let you undergo some surgery . Till month May you may suffer from emotional trauma . First half of the year may prove dull but the second half of the year looks better, comparatively; and your troubles will vanish away gradually. You need to be calm and be in peace. Also, you will get a good hold over the difficult situations with your intelligent planning. As per Astrology 2016 predictions Nisha Ghai the Famous Indian Astrologer suggests you to indulge yourself in spiritual as well as religious activities. ‪#‎instituteofpalmistry‬

. 2016 has got mixed results for you. For some this year can be good and for some it will be adventurous. In the first half of 2016, You can face challenges or threats. Health and profession will be wavering .

Jupiter is in  Lagna   is assuring family piece sand Saturn in fourth. Hence, Saturn Dhiya will give you trouble in every step.   People in government job need to be careful in handling situations .You may have to face some troubles. Don’t freak out, it is the time to test your abilities.

As per horoscope 2016 and Astrologer Numerologist Palmist Nisha, you may get upset due to the behaviour of some of your loved ones,

Leo Trade Profession Finance Money You will get mixed results in business in year 2016.The expand char will increase.  You may Launch a new venture by August .  There will be more spending in repair and renovation.  In January there can be income from Abroad. You may lose a big order. There can be tax related problems in the mid year. There will be plenty of Journey and most of them will not give any result. Keep your senior happy Get a detail Career Finance 2016 Report

Leo Love Marriage, Relation ,Family. Good news for child birth. You will be concerned about your child education. Your children will support you. Marriage may take place at home. The secret Love affair may get exposed.  Students have to work hard and may not get responsive result. Blessing of senior is their Spouse health will put you under pressure in July.Get detail 2016 Marriage Love Report .

Saturn Transit – Due to Saturn Dhaiyya There can be loss in business and finance. Stomach  related health issues problems may crop up .  New plans and project may not start . Students mat get disturbed and loose focus. Children may not listen you .  Do not trust people blindly . Get detail 2016 Satrun transit Report .

  • Advice – On the health front, there may be some concerns, caused mainly by working too hard and for long hours.
  • You may feel that things are too dull, and may get frustrated. In your anger and frustration about your own situation, do not end up getting jealous of others.
  • Finances may keep you tense. Do keep hold on your expenditure.
  • Do not trust any stranger in money matters. Get a personalised 2015 detail report

Remedy: Offer a mixture of rice and milk to a cow.   Learn Astrology

#7 Delhi Election BJP Or AAP

#Numerology #7 -02=-2015

#DelhiElection how Lucky is date # 7 for Kiran Bedi and Arvind Kejriwal
Name: Kiran Bedi
DOB :9- June -1949
Lucky Number – 9
Life Path Number – 2
Name Total – 5
Delhi Total – 9
Delhi Election Date 7-02-2015=8

Name: Arvind Kejriwal
DOB: 16-8-1968
Lucky Number – 7
Life Path Number – 3
Name Total – 4
Delhi Election Date 07-02-2915

Lucky Number of Kiran Bedi is 9 and Life Path Number is is 2 and Lucky Number of Arvind Kejriwal is 7 and Life Path No is 3.

Number of Delhi is also 9. Delhi election date total is 8 According to numerology It will be not easy for Kiran Bedi to win election she will not win with majority since her Life path number is 2 Lord Moon much will depend on people mood swing….

Kiran Bedi The New Face Of BJP[ Hand Analysis Palmistry Horoscope ]

Kiran Bedi The New Face Of BJP[ Hand   Analysis Palmistry Horoscope ]

Name: Kiran Bedi

Date of Birth: Thursday, June 09, 1949

Time of Birth: 14:10:00

Place of Birth: Amritsar

Internationally acclaimed Kiran Bedi is the first and highest ranking woman IPS Officer of India and currently working as social activist. She was working as Director General in Bureau of Police Research and Development at the time of her voluntary retirement from Govt.

The highlight of Kiran Bedi palm is  Mount of  Mars and Venus,  which has   generated  Raj Yoga  with lovely  Apollo finger  , which rules over her personality  In addition to this, Venus is strong.

Palm analysis of Kiran  Bedi  show  Sun line has currently started with support line Mercury (signifying political career and position) in her  whereas her  Saturn line and Square on it  signifying day to day profession and success in competition. This is again  a very strong success Yoga . This factor increases the ratio of her desired success in the upcoming Election. Plus, this factor will contribute to her popularity.  Developed Mount of Mars is giving courage and fighting ability with odd .

The Mangal Rekha Is cutting Bhagya Rekha this may give  some hurdles in  the beginning  which shows her success will not be easy .She will  face hindrance  next year she should  plan her cabinet officers intelligently .

As per Palmistry famous Indian palmist Nisha says  The most strong part of Kirans hand is her Sun and Mars . Presently the  lines are supporting except the Mangal rekha  the Event Election this is just the perfect timing  presently for her  .

As per her Astrology  horoscope planetary combinations. The combinations are one is Saturn and Mars are expecting each other. Moon and Mars are again aspecting each other. And Venus and Mercury because of parivartana are affecting each other. We have to understand very important thing: when two or more planets combine together there is a mix of energy centres. Off course there will be positive and negative impact from every mixture of these energies

Mars is a warrior and represents courage. On the other hand Saturn is hard work and discipline. That’s what is happening in Bedi’s horoscope, which is courage with discipline.  More Over the natural benefic Jupiter is transiting through the 11th House in Ms. Bedi’s Chart, which is another positive  sign for the desired growth and success in her political career.

Her  Hand and  horoscope stars  are indicating  that as a candidate of BJP, she will lead the party with success –
Famous Astro Palmist Nisha Ghai sees  strong possibility of Kiran Bedi becoming the Chief Minister of Delhi, post the upcoming Delhi Assembly Elections.

Nisha Ghai

Palmistry Guru .